भगवान् गौतम बुद्ध से सीखे वर्तमान में जीने का सही तरिकका

भगवान् गौतम बुद्ध से सीखे वर्तमान में जीने का सही तरिकका

एक बार भगवान् गौतम बुद्ध एक वन से गुजर रहे होते है। बुद्ध देखते है की 3 आदमी बुद्ध की तरफ दौड़े चले आ रहे है। वो तीनो व्यक्ति बुद्ध के पास पहुंचते है और बुद्ध से पूछते है की मुनिवर क्या आपने यहाँ से किसी स्त्री को भागते हुए देखा है।

भगवान् गौतम बुद्ध से सीखे वर्तमान में जीने का सही तरिकका
भगवान् गौतम बुद्ध से सीखे वर्तमान में जीने का सही तरिकका

बुद्ध कहते है नहीं, मैंने तो यहाँ से किसी भी स्त्री को भागते हुए नहीं देखा। लेकिन आप तीनो इतने परेशान क्यों है। वे तीनो व्यक्ति कहते है की वो स्त्री एक डायन थी। वो स्त्री हमारा सारा धन लेकर भाग गई। बुद्ध कहते है की अकारण ही वह तुम्हारा सारा धन लेकर भाग गई।

वे तीनो व्यक्ति कहते है की अकारण तो नहीं, हम उसे आमोद, प्रमोद के लिए लाये थे। परन्तु उसने हमें मदिरा पिलाकर बेसूद कर दिया। जिसके बाद उसने हमारा सारा धन चुरा लिया। और वहा से भाग गई। बुध्द कहते है की चलो अच्छा हुआ उसने तुम्हारा बोझ कम कर दिया।

कामवासना व् अश्लील विचार से मुक्ति कैसे पाए एक बौद्ध भिक्षु और एक इंसान की कहानी

उन तीनो व्यक्तियों में से एक व्यक्ति को क्रोध आ जाता है और वो बुद्ध से कहता है की मुनिवर तुम हमारा उपहास उड़ा रहे हो। तुम्हे पता भी है की वो धन कितना था। इतना धन तुमने आजतक अपने स्वपन में भी नहीं देखा होगा।

वो व्यक्ति नहीं जानता था की बुद्ध, बुद्ध बनने से पहले एक राजा के पुत्र थे जिनका सिद्धार्थ नाम था। जिनके पास धन की कोई सीमा नहीं थी। बुद्ध कहते है की वो तो अभी भी तुम्हारा सबसे कीमती धन लूट रही है। और तुम कुछ नहीं कर पा रहे हो।

आपका विश्वास ही आपका भाग्य निर्धारित करता है। – गौतम बुद्ध

परन्तु ये कैसे हो सकता है धन तो उसने हमारा कल रात लूटा था। पर आप ये क्यों कह रहे हो की वो अभी भी हमारा धन लूट रही है। बुद्ध कहते है की धन उसने भूतकाल में लूटा था। और तुम उसके बारे में सोचकर अपना वर्तमान भी गवां रहे हों।

वह तुम्हारा वर्तमान भी चुरा रही है। ऐसा हो सकता है की तुम उसको भविष्य में पकड़ भी लो और उसे दंड दो। परन्तु उस भविष्य और इस भूतकाल के चक्कर में तुम्हारा वर्त्तमान तो ख़त्म हो रहा है। और यही सबसे बड़ी समस्या है।

अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाएं | आत्म विश्वास की अद्भुत शक्ति

तुम भूतकाल का बोझा उठाकर उस भविष्यकाल को बढ़ने की कोशिश कर रहे हो। जो अनिश्चित है। और खो रहे हो अपना वर्तमान। बुद्ध की बात सुकर उन तीनो व्यक्तियों में से एक व्यक्ति कहता है की बुद्ध बात तो तुम सही कह रहे हो।

हम इसी क्षण में जीए तो। बुद्ध कहते है की अगर तुम इसी क्षण में जी पाए तो तुम अपने आप को जान सकोगे। और अपने दुखो का कारण भी जान सकोगे। उन तीनो व्यक्तियों में से एक व्यक्ति कहता है क्या आप अपने आपको जान पाए।

अपने जीवन में बदलाव कैसे लाएं, जिससे हर कष्टों से मुक्त हो जाए – गौतम बुद्ध

और यदि जान पाए तो उससे जानने से होगा क्या। उन तीनो व्यक्तियों में से एक व्यक्ति के पास बांसुरी होती है। बुद्ध कहते है मित्र तनिक मुझे अपनी बांसुरी दो। वो तीनो हस्ते है और कहते है सन्यासी बांसुरी बजायेगा। बुद्ध बांसुरी लेते है और बजाना शुरू करते है।

जैसे ही बुद्ध बांसुरी बजाना शुरू करते है आसपास के सभी पक्षी पेड़ पौधे छोड़कर बुद्ध के पास आकर बैठ जाते है। और वे तीनो व्यक्ति भी बुद्ध की बांसुरी की धुन में पूरी तरह खो जाते है। बुद्ध बांसुरी बजाना बंद कर देते है। मगर वे तीनो अभी भी बुद्ध को एक तक ही देखे जा रहे है।

क्योकि इससे पहले उन्होंने ऐसी मधुर बांसुरी कभी नहीं सुनी। वे व्यक्ति बुद्ध से पूछते है की आप ऐसी मधुर बांसुरी कैसे बजा लेते हो। बुद्ध कहते है की अगर तुम भी इतनी मधर बांसुरी बजाना चाहते हो तो बांसुरी पर ध्यान लगाने की बजाय अपने जीवन पर ध्यान लगाओ।

अगर आप समस्याओ में उलझे है तो कैसे बचे – गौतम बुद्ध

अपने आपको जानने पर ध्यान लगाओ यदि तुम अपने आपको जान सके तो बांसुरी अपने आप ही मधुर बजेगी। और सब लोग उसको सुनकर आनंदित होंगे। बुद्ध उनकी बांसुरी उनको देकर वहा से चल पड़ते है। उन में से एक व्यक्ति दौड़कर बुद्ध के पैर पकड़ लेता है।

और कहता है की मुनिवर क्या आप मुझे बांसुरी बजाना सिखाएंगे। बुद्ध कहते है अवश्य,परन्तु मै तुम्हारा सारा अहंकार छीन लूंगा। वह व्यक्ति बुद्ध का शिष्य बन जाता है। उन तीनो व्यक्तियों की तरह आप भी अपना कीमती धन खो रहे है।

हर क्षण गरीब हो रहे है। वो धन है आपका समय, वो धन है आपका वर्तमान। जिसे आप भूतकाल और भविष्यकाल के चक्कर में खो रहे है।

आज की हमारी ये कहानी कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर लिखना। अगर आप इस तरह की कहानी वीडियो के रूप में देखना चाहते हो तो हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हो। यूट्यूब चैनल लिंक निचे दिया है. धन्यवाद

यूट्यूब चैनल लिंक – https://www.youtube.com/channel/UCNc4L80YvvkvqS2XEmC9aTQ

फेसबुक पेज लिंक –  https://www.facebook.com/Gautambuddhaindia/

Leave a Comment