एक कड़वी सच्चाई जिसे आप महसूस तो कर रहे है लेकिन स्वीकार नहीं

एक कड़वी सच्चाई जिसे आप महसूस तो कर रहे है लेकिन स्वीकार नहीं 

पैर से अपाहिज एक भिखारी सदा परसन और खुश रहता था। किसी ने उस भिखारी से कहा की अरे तुम भिखारी हो ,लंगड़े भी हो तुम्हारे पास कुछ भी नहीं है फिर भी तुम इतने खुश कैसे रहते हो। वह भिखारी बोला की बाबूजी भगवान् का शुक्र है की मै अँधा नहीं हूँ।

एक कड़वी सच्चाई जिसे आप महसूस तो कर रहे है लेकिन स्वीकार नहीं
एक कड़वी सच्चाई जिसे आप महसूस तो कर रहे है लेकिन स्वीकार नहीं 

भले ही मै चल नहीं सकता लेकिन देख तो सकता हूँ मुझे जो नहीं मिला मै प्रभु से उसके लिए शिकायत नहीं करता बल्कि जो मिला है उसके लिए धन्यवाद जरूर देता हूँ। यही है दुःख में से सुख को खोजने की कला। दुःख बड़ा ही ढीठ मेहमान है।

अगर ये तुम्हारे घर के लिए निकल पड़ा है तो आएगा जरूर। अगर तुम इस मेहमान को घर आते देखकर सामने का दरवाजा बंद कर लो मगर वो पीछे के दरवाजे से आ जायेगा। और अगर आप ने पीछे का दरवाजा भी बंद कर लिया तो ये खिड़की से अंदर आ जायेगा मगर आएगा जरूर।

अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाएं | आत्म विश्वास की अद्भुत शक्ति

अत: जीवन में सुख की तरह दुःख का भी स्वागत करो। दुःख की मेजवानी के लिए भी तैयार रहो। परमात्मा हमें कभी सजा नहीं देते।  हमारे कर्म हमें लौटकर सजा का अनुभव करवाते है। किसी की अर्थी यात्रा में जाओ तो ये मत समझना की आप उसे उसकी मंज़िल पर ले जा रहे है।

ये समझना की अर्थी  लेटा हुआ इंसान तुम्हे तुम्हारी मंज़िल दिखाने ले जा रहा है। अब डूबने का क्या खौफ प्रभु जब नाव भी तेरी, दरिया भी तेरा, लहरे भी तेरी और हम भी तेरे। इंसान ना तो हंसकर सीखता है और ना ही रोकर सीखता है।

इंसान अगर कुछ भी सीखता है वो या तो किसी का होकर सीखता है या फिर किसी को खोकर सीखता है गुड़ ना हो तो रूप व्यर्थ है भूख ना हो तो भोजन व्यर्थ है होश ना हो तो जोश व्यर्थ है सदुपयोग ना हो तो धन व्यर्थ है विनम्रता ना हो तो विधि व्यर्थ है।

साँस ना हो तो तलवार व्यर्थ है। परोपकार ना हो तो इंसान व्यर्थ है अर्थ ना हो तो शब्द ही व्यर्थ है श्रद्धा ना हो तो पूजा ही व्यर्थ है प्रेम ना हो तो जीवन व्यर्थ है। इंसान के जीवन में जब ईगो और नफरत पैदा होने लगती है। तो खुशिया गायब हो जाती है।

आपका विश्वास ही आपका भाग्य निर्धारित करता है। – गौतम बुद्ध

लेकिन जब इंसान के जीवन में अच्छे विचार और प्यार पनपने लगता है तो सारी उदासी दूर हो जाती है। दोस्ती से कीमती कोई जागीर नहीं होती। दोस्ती से ख़ूबसूरत कोई तस्वीर नहीं होती दोस्तों यूँ तो कच्चा धागा है मगर इस धागे से मजबूत कोई जंजीर नहीं होती।

याद रखना माँ बाप उम्र से नहीं फिकर से बूढ़े होते है। कड़वा है मगर सत्य है। बच्चा रोता है तो पुरे पड़ोस को पता चलता है। लेकिन जब माँ बाप रोते है तो बाजु वाले को भी पता नहीं चलता। ये जिंदगी की सच्चाई है। करते है मोल भाव भगवान् की मूर्ति खरीदते समय फिर उसी मूर्ति को घर में रखकर करोड़ो मांगते है।

नादानी भी सच में बेमिसाल है अँधेरा दिल में है और दिए मंदिरो में जलाते है। कोई हालात को नहीं समझता तो कोई जज्बात को नहीं समझता तो बस अपनी अपनी समझ है की कोई कोरा कागज भी पढ़ लेता है और कोई पूरी किताब को भी नहीं समझता।

जिस तरह थोड़ी औसधि भयंकर रोगो को शांत कर देती है। उसी तरह ईश्वर की थोड़ी सी स्तुति भी कष्टों का नाश कर देती है। किसी की बुराई करने से पहले सो बार सोचे की बुराइया हमारे अंदर भी है। और जुबान दुसरो के पास भी है।

अगर आप समस्याओ में उलझे है तो कैसे बचे – गौतम बुद्ध

समुन्दर बड़ा है लेकिन फिर भी अपनी हद में रहता है परन्तु इंसान छोटा होकर भी अपनी हद भूल जाता है। धन कहता है मुझे जमा कर, कैलेंडर कहता है मुझे पलट, समय कहता है मुझे प्लान कर, भविष्य कहता है मुझे जीत, सुंदरता कहती है मुझे प्यार कर लेकिन भगवान् सुन्दर शब्दों में कहते है।

कर्म करता चल और मुझ पर विश्वास कर। जीवन में यही देखना महत्वपूर्ण नहीं है की कौन हमसे आगे है। और कौन हमसे पीछे। ये भी देखना चाहिए की कौन हमारे साथ है और हम किसी साथ है। जुड़ना बड़ी बात नहीं है लेकिन जुड़े रहना बहुत बड़ी बात है।

औरत की ताकत तो बस इतनी है की अगर उसे मकान दो तो उसको सवारकर घर बना देती है। उसे अनाज दो तो उसे खाना बना देती है। उससे प्यार से बात करो तो वो अपना दिल लुटा देती है। वो हर चीज को डबल कर देती है चाहे गुस्सा हो या प्यार हो।

मतलब बहुत वजनदार होता है लेकिन जाने के बाद हर रिश्ते को हल्का कर देता है। सच बोलने से हमेशा दिल साफ रहता है अच्छाइया करने से हमेशा मन साफ रहता है। मेहनत करने से हमेशा दिमाग साफ रहता है। एक पेन गलती कर सकता है लेकिन एक पेंसिल गलती नहीं कर सकती। क्यों

अगर कोई व्यक्ति आपको बुरा भला कहे तो क्या करे – गौतम बुद्ध

क्योकि उसके साथ उसका दोस्त रबड़ होता है। अगर एक सच्चा दोस्त आपके साथ है तो वो आपकी जिंदगी की गलतिया मिटाकर आपको एक अच्छा इंसान बना देगा। इसलिए सच्चे और अच्छे दोस्त हमेशा साथ रखिये। शिक्षा ही वह ताकतवर हथियार है जिसके बल पर आप दुनिया बदल सकते है।

बहुत जरुरी है जिंदगी में थोड़ा सा खालीपन। यही वो समय है जो हमारी मुलाकात हमसे होती है। अहंकारी व्यक्ति की कोई सीमा नहीं होती है वह हर हद पार करके सामने वाले व्यक्ति को अपना अहंकार दिखाता है। ऐसे में अच्छे और बुरे का होश नहीं रहता है।

ऐसे लोग अपने परिवार और अपने मित्रो को सिर्फ दुःख ही पहुँचाता है। गलतिया भी होगी और गलत भी समझा जायेगा। जिंदगी है जनाब गिरफ्तारी से भी होगी और कोसा भी जायेगा। अच्छी बाते करने से अच्छा है की अच्छे कर्म करके दिखाओ।

लोग सुनना नहीं देखना ज्यादा पसंद करते है। परिवार के साथ हमेशा बने रहे क्योकि यही वो जगह है जहा हमें हमारी हर कमियों के साथ स्वीकार किया जाता है। जिंदगी के दो कड़वे सच किसी को दिल की बात बताओगे तो वो मुँह पर हमदर्दी जतायेगा।

और पीठ के पीछे मज़ाक उड़ाएगा। दूसरा जिससे जितनी ज्यादा उम्मीद लगाओगे वो आपको उतनी ही ज्यादा तकलीफ देगा। इंसान को कभी अपने समय पर घमंड नहीं करना चाहिए। क्योकि जिंदगी है साहब छोड़कर चली जाएगी।

मेज पर लगी होगी आपकी तश्वीर और कुर्सी खाली रह जाएगी। सच्चा प्यार वो नहीं जो जवानी में तुम्हारे हाथों को चूमे बल्कि सच्चा प्यार वो है जो बुढ़ापे में तुम्हारे कांपते हाथो को थामे।

फिर मिलेंगे दोस्तों एक और नई कहानी के साथ तब तक अपना ख्याल रखे और हमेशा मुस्कुराते रहिये। आज की हमारी ये कहानी कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर लिखना।

अगर आप इस तरह की कहानी वीडियो के रूप में देखना चाहते हो तो हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हो। यूट्यूब चैनल लिंक निचे दिया है धन्यवाद

यूट्यूब चैनल लिंक – https://www.youtube.com/channel/UCNc4L80YvvkvqS2XEmC9aTQ

फेसबुक पेज लिंक –  https://www.facebook.com/Gautambuddhaindia/

Leave a Comment