अपने जीवन में बदलाव कैसे लाएं, जिससे हर कष्टों से मुक्त हो जाए – गौतम बुद्ध

अपने जीवन में बदलाव कैसे लाएं, जिससे हर कष्टों से मुक्त हो जाए – गौतम बुद्ध

जीवन में हर व्यक्ति बदलाव चाहता है। रूपांतर चाहता है। ये बदलाव या ये रूपांतरण दो तरिक्को से होता है। पहला तरिकका हमारा खुद का अनुभव है। हम अपने जीवन के अंदर बहुत सारे अनुभव करते है। और उन अनुभवों के हिसाब से बदलते चले जाते है।

अपने जीवन में बदलाव कैसे लाएं, जिससे हर कष्टों से मुक्त हो जाए
अपने जीवन में बदलाव कैसे लाएं, जिससे हर कष्टों से मुक्त हो जाए

और दूसरा तरिकका है दुसरो के अनुभव से अपने जीवन में रूपांतरण लाना। बदलाव लाना। इस तरिकके को समझदार लोग प्रयोग करते है। वो लोग ये बात समझ पाते है की हमारे पास बहुत कम समय है और अनुभव करने के लिए बहुत सारी चीज़े है।

इसलिए वो अपने अनुभवों के साथ साथ दुसरो के अनुभवों से भी सीखते है। आप बुद्ध के जीवन को क्यों जानना चाहते है। क्योकि बुद्ध के जीवन को जानकर आप अपने जीवन में रूपांतरण ला सकते है। एक छोटी सी कहानी गौतम बुद्ध के जीवन से।

अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाएं | आत्म विश्वास की अद्भुत शक्ति

एक बार एक बौद्ध भिक्षु भिक्षाटन के लिए एक गांव में जाता है। जैसे ही वो भिक्षु गांव में पहुँचता है वहा पर सभी लोग उस उस भिक्षु को घूर घूर कर देखने लग जाते है। वह भिक्षु कुछ और आगे चलता है। वहा खड़े लोग भी उस भिक्षु के पीछे पीछे चलने लगते है।

धीरे धीरे लोगो की संख्या बढ़ती चली जाती है। और सभी लोग उस भिक्षु को चारों और से घेर लेते है। फिर सभी लोग मिलकर उस भिक्षु को पत्थर और डंडो से पीटने लग जाते है। उस गांव के ही एक व्यक्ति के द्वारा बुद्ध तक ये खबर पहुंचाई जाती है।

जैसे ही बुद्ध को ये पता चलता है की भिक्षु को पीटा जा रहा है। तो बुद्ध दौड़कर उस गांव में पहुंचते है। बुद्ध भिक्षु को पीटता देख जल्दी से उसके पास जाते है। और सभी पत्थर, डंडो के बीच अपने शरीर को ले आते है। भिक्षु को लगने वाला हर पत्थर व् हर डंडा बुद्ध अपने शरीर पे खाने लगे।

आपका विश्वास ही आपका भाग्य निर्धारित करता है। – गौतम बुद्ध

बुद्ध को देखकर गांव के कुछ लोग दूसरे लोगो को समझाते है। और कहते है रुक जाओ। सभी लोग पत्थर और डंडा मारना बंद कर देते है। बुद्ध गांव वालो से पूछते है की तुम इस भिक्षु को क्यों मार रहे हो। गांव वाले सभी बुद्ध से कहते है।

बुद्ध आप बीच में से हट जाइये हमें इस पापी को दण्ड देना है। ये एक राक्षश है इसने ना जाने कितने लोगो के प्राण लिए है। यह उंगलिमाल राक्षश क्या सोचता है की भिक्षु बनकर हमसे बच जायेगा। हम इस उंगलिमाल को जीवित नहीं छोड़ेंगे।

आप सामने से हट जाइये बुद्ध हमें इसे दंड देने दीजिये। बुद्ध कहते है की तुम इसे इसके भूतकाल के कर्मो के कारण पीट रहे हो। या फिर इसके वर्तमान के अच्छे कर्मो के कारण। तुम सब कहते हो की इसने बहुत सारे लोगो के प्राण लिए है।

अगर आप समस्याओ में उलझे है तो कैसे बचे – गौतम बुद्ध

यह एक बहुत ही खतरनाक राक्षश था पर क्या तुम इसके भीतर बदलाव नहीं देख पा रहे हो। क्या तुम सब ये नहीं देख पा रहे की ये इतनी देर से तुम्हारी मार सह रहा है। पर क्या ये पहले वाला उंगलिमाल होता तो तुम में से इसे कोई भी ऊँगली लगा पाता।

क्योकि इसने अब पुराने सभी बुरे कृत्य छोड़ दिए है। इसलिए ये चुपचाप तुम्हारी मार खा रहा है। अगर यह पुराना उंगलिमाल होता तो तुम में से कोई भी इसके पास आने का दुस्साहस नहीं करता। बुद्ध का भिक्षु बुद्ध से कहता है आप इन्हे मुझे मार लेने दीजिये।

जब तक की इनका क्रोध शांत ना हो जाये। बुद्ध भिक्षु से कहते है की मैंने जो तुम्हारा नाम रखा है। आज तुमने इसे सिद्ध कर दिया है। आज तुमने अपने लहू से अपने सभी बुरे कर्मो को धो दिया है। सभी लोग बुद्ध और भिक्षु से क्षमा मांगते है।

अगर कोई व्यक्ति आपको बुरा भला कहे तो क्या करे – गौतम बुद्ध

जीवन में बदलाव लाया जा सकता है पर बदलाव के बाद आने वाली समस्याओ के कारण दोबारा से वही बन जाना जो आप पहले थे यह एक बहुत बड़ी गलती है। आपको एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए की आपने अपने जीवन में बदलाव अपने कारण लाया है। किसी दूसरे व्यक्ति के कारण नहीं।

फिर मिलेंगे दोस्तों एक और नई कहानी के साथ तब तक अपना ख्याल रखे और हमेशा मुस्कुराते रहिये। आज की हमारी ये कहानी कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर लिखना।

अगर आप इस तरह की कहानी वीडियो के रूप में देखना चाहते हो तो हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हो। यूट्यूब चैनल लिंक निचे दिया है धन्यवाद

यूट्यूब चैनल लिंक – https://www.youtube.com/channel/UCNc4L80YvvkvqS2XEmC9aTQ

फेसबुक पेज लिंक –  https://www.facebook.com/Gautambuddhaindia/

Leave a Comment